Connect with us

Hi, what are you looking for?

English

समाचार

बलरामपुर चीनी मिल का एथेनॉल उत्पादन 50 फीसदी बढ़ा, देश में चीनी उत्पादन फिक्स करने मांग

शुगर इंडस्ट्री की प्रमुख कंपनी बलरामपुर चीनी मिल्स लिमिटेड (बीसीएमएल) का एथेनॉल उत्पादन 50 फीसदी बढ़ा है। कंपनी ने नवंबर से अप्रैल के सीजन में करीब 33 करोड़ लीटर एथेनॉल का उत्पादन किया है। कंपनी का मानना है कि अब वह समय आ गया है कि सरकार को देश में चीनी की खपत के अनुसार उत्पादन स्तर फिक्स यानी तय कर दिया जाय। ऐसा होने से अतिरिक्त उत्पादन को एथेनॉल में परिवर्तित किया जा सकेगा । पिछले साल कंपनी की कुल कमाई में एथेनॉल की हिस्सेदारी 28 फीसदी रही है।

चीनी पर जारी रहेगा फोकस

बलरामपुर चीनी मिल्स लिमिटेड (बीसीएमएल) की प्रमोटर और बिजनेस लीड अवंतिका सरावगी ने कहा है कि एथेनॉल उत्पादन 50 प्रतिशत बढ़ने के बावजूद कंपनी का मेन फोकस चीनी उत्पादन पर रहेगा। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि कंपनी की खुदरा क्षेत्र में उतरने की तत्काल कोई योजना नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य बाजार की मांग के आधार पर चीनी तथा एथेनॉल उत्पादन के बीच संतुलन बनाना है। कंपनी ने इस साल के लिए एथेनॉल/अल्कोहल और चीनी के बीच 33:66 अनुपात में उत्पादन का लक्ष्य तय किया है।

चीनी का उत्पदान तय हो

सरावगी ने कहा है कि देश के चीनी खपत का उत्पादन स्तर तय करना चाहिए और किसी भी अतिरिक्त उत्पादन को एथेनॉल में बदल दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, इस साल घरेलू चीनी की मांग 2.8 करोड़ टन होने का अनुमान है।

संबंधित पोस्ट

समाचार

उत्तर प्रदेश में खेती के लिए नलकूप कनेक्शन लेने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश सरकार इन किसानों को मुफ्त में बिजली...

कृषि

दूध उत्पादन में उत्तर प्रदेश के किसानों ने कमाल कर दिया है। प्रदेश 15 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी के साथ सबसे ज्यादा दूध...

नीति

मजबूती शुगर लॉबी के दबाव के चलते आखिरकार केंद्र सरकार को अपने एक सप्ताह पुराने फैसले से यू-टर्न लेना पड़ा। देश के चीनी उत्पादन...

संघर्ष

छुट्टा जानवर किसानों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में 15 दिनों के भीतर आवारा जानवारों के...