Connect with us

Hi, what are you looking for?

English

कृषि

आने वाली है पीएम किसान की अगली किस्त, करा लें ई-केवाईसी, ये है प्रॉसेस

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (पीएम किसान) की 16 वीं किस्त जारी करने की तैयारी है। ऐसे में किसानों के लिए एक जरूरी सूचना है। जिन किसानों ने अभी तक ई-केवाईसी नहीं कराई है, वह जनवरी तक जरूर ई-केवाईसी करा लें। क्योंकि ई-केवाईसी कराने के बाद ही किस्त की राशि मिलेगी। जो किसानों ई-केवाईसी नहीं करवाएंगे, उनकी 16 वीं किस्त रुक सकती है। ऐसे संभावना है कि 16 वीं किस्त फरवरी या मार्च में जारी की जा सकती है। इसलिए बेहतर होगा कि जनवरी में ई-केवाईसी प्रक्रिया पूरी कर ली जाय।

अनिवार्य है ई-केवाईसी

असल में पीएम किसान के तहत दी जाने वाली राशि के लिए केंद्र सरकार ने ई-केवाईसी अनिवार्य कर दिया है। पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को 6000 रुपये की रकम 3 किस्तों में दी जाती है। ऐसे में जिन किसानों ने अभी तक ई-केवाईसी नहीं कराई है, वे ऑनलाइन या पास में स्थित ग्राहक सेवा केंद्र पर जाकर ई-केवाईसी करा सकते हैं।

कैसे करें ऑनलाइन ई-केवाईसी


ई-केवाईसी करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाना होगा। वहां पेज के दाईं ओर दिए गए eKYC विकल्प पर क्लिक करें। कैप्चा कोड सत्यापन के बाद आधार कार्ड नंबर दर्ज करें। इसके बाद ‘सर्च’ विकल्प पर क्लिक करें। फिर आधार से लिंक मोबाइल नंबर दर्ज करें। इसके बाज ‘गेट ओटीपी’ विकल्प पर क्लिक करें। ओटीपी दर्ज करने के बाद ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

अगली किस्त कब

पीएम किसान सम्मान निधि योजना केंद्र सरकार द्वारा 2019 में शुरू की गई थी। योजना के तहत किसानों के बैंक खातों में हर साल 6,000 रुपये की राशि जमा की जाती है। ये राशि 2000 रुपये की 3 किस्तों में दी जाती है.। 15 वीं किस्त पिछले साल 15 नवंबर को पीएम किसान को जारी की गई थी। इसके तहत 8 करोड़ से अधिक किसानों को 2000 रुपये की किस्म दी गई थी। चुनावों को देखते हुए संभावना है कि 16 वीं किस्त फरवरी में जारी हो सकती है।

संबंधित पोस्ट

समाचार

उत्तर प्रदेश में खेती के लिए नलकूप कनेक्शन लेने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश सरकार इन किसानों को मुफ्त में बिजली...

कृषि

दूध उत्पादन में उत्तर प्रदेश के किसानों ने कमाल कर दिया है। प्रदेश 15 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी के साथ सबसे ज्यादा दूध...

नीति

मजबूती शुगर लॉबी के दबाव के चलते आखिरकार केंद्र सरकार को अपने एक सप्ताह पुराने फैसले से यू-टर्न लेना पड़ा। देश के चीनी उत्पादन...

संघर्ष

छुट्टा जानवर किसानों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में 15 दिनों के भीतर आवारा जानवारों के...