Connect with us

Hi, what are you looking for?

English

समाचार

असम सीएम की पत्नी की मीडिया कंपनी पर किसान संपदा की सब्सिडी लेने के आरोप

कांग्रेस ने असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की पत्नी से जुड़ी मीडिया कंपनी को प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना के तहत 10 करोड़ रुपये का अनुदान मिलने पर सवाल उठाते हुए भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने बुधवार को नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस कथित घोटाले का खुलासा किया। हालांकि, हिमंत बिस्वा सरमा ने इस आरोपों से साफ इंकार किया है। 

सार्वजनिक डोमेन में उपलब्ध दस्तावेजों का हवाला देते हुए गौरव वल्लभ ने कहा कि प्राइड ईस्ट एंटरटेनमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड नाम की एक कंपनी खुद को नार्थ ईस्ट का प्रमुख मीडिया चैनल बताती है। कंपनी की सीएमडी असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की पत्नी रिनिकी भुयान सरमा हैं। असम के मुख्यमंत्री के तौर पर हिमंत बिस्वा सरमा के शपथ लेने के कुछ ही महीनों बाद इस कंपनी ने असम के नागांव जिले में 50 बीघा कृषि भूमि खरीदी। यह कृषि भूमि कुछ दिनों बाद औद्योगिक भूमि में कन्वर्ट हो जाती है। फिर यह मीडिया कंपनी फूड प्रोसेसिंग के लिए प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना में आवेदन करती है और उसे 10 करोड़ रुपये का अनुदान दे दिया जाता है।

गौरव वल्लभ ने सवाल उठाया कि मीडिया चैनल को अचानक फूड प्रोसेसिंग के लिए अनुदान कैसे मिल सकता है? कृषि भूमि कुछ ही महीनों में इंडस्ट्रियल लैंड में कन्वर्ट हुई और कुछ ही महीनों में 10 करोड़ रुपये की ग्रांट दे दी जाती है। सब कुछ बहुत तीव्र गति से हुआ। ऐसी सुविधा देश के बाकी लोगों को कब मिलेगी? असम के मुख्यमंत्री की पत्नी द्वारा संचालित कंपनी को किसानों के हक का दस करोड़ रुपया अनुदान दिया जाता है। क्या किसानों का पैसा डबल करने का यही मॉडल है? क्या यही है ‘न खाऊंगा, न खाने दूंगा’ का मॉडल?

इस आरोपों का खंडन करते हुए असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने एक्स पर लिखा, “भारत सरकार ने उक्त कंपनी को कोई धनराशि जारी नहीं की है। मैं एक बार फिर इस बात पर जोर देना चाहता हूं कि न तो मेरी पत्नी और न ही वह जिस कंपनी से जुड़ी हैं, उसने भारत सरकार से कोई राशि प्राप्त की है या ऐसा दावा किया है। यदि कोई इसके विपरीत साक्ष्य दे सके तो मैं सार्वजनिक जीवन से सेवानिवृत्ति सहित कोई भी सजा स्वीकार करने को तैयार हूं।”

लोकसभा में कांग्रेस के उपनेता गौरव गोगोई ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में आरोप लगाया कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए पीएम मोदी ने किसान संपदा योजना शुरू की। लेकिन असम में मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर अपनी पत्नी की फर्म को क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी के रूप में 10 करोड़ रुपये दिलाने में मदद की। क्या केंद्र सरकार की योजनाएं भाजपा को मालामाल करने के लिए हैं?

टीएमसी की नेता सुष्मिता देव ने भी इस मामले पर मुख्यमंत्री सरमा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि असम के सीएम की पत्नी एक कंपनी के माध्यम से सीलिंग एक्ट का उल्लंघन कर कृषि भूमि खरीदती हैं। फिर उसे इंडस्ट्रियल यूज में कन्वर्ट कराती हैं और सब्सिडी का लाभ उठाती हैं। सब कुछ 10 महीने के भीतर हो जाता है। कोई सवाल नहीं उठा। क्या इसका रहस्य वॉशिंग मशीन है!

संबंधित पोस्ट

Advertisement

लोकप्रिय