Connect with us

Hi, what are you looking for?

English

संघर्ष

यूपी के बदायूं जिले में सांड के हमले से 15 दिन में तीन किसानों की मौत, पेट में सींग घुसाकर फेंका

मृतक किसान अयोध्या प्रसाद कश्यप के घर शोक का माहौल
मृतक किसान अयोध्या प्रसाद कश्यप के घर शोक का माहौल

छुट्टा जानवर किसानों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में 15 दिनों के भीतर आवारा जानवारों के हमले में तीन किसानों की जान चली गई। ताजा घटना शुक्रवार रात की है। फैजगंज थाना क्षेत्र में अपने खेत की रखवाली करने गए एक बुजुर्ग किसान पर सांड ने हमला कर दिया, जिसमें किसान की मौत हो गई।

आलू के खेत की रखवाली करने गया था किसान

आसफपुर कस्बे के रहने वाले किसान अयोध्या प्रसाद कश्यप (65) शुक्रवार रात अपने खेत की रखवाली करने गये थे, तभी एक सांड उनके आलू के खेत में घुस गया। उन्होंने सांड को भगाने की कोशिश की तो सांड ने हमला कर दिया। सांड ने पहले सींग से किसान के पेट में वार किया और फिर जमीन पर पटक दिया।

घायल किसान की चीख-पुकार सुनकर आसपास के किसान दौड़कर आए। उन्होंने किसी तरह सांड को वहां से भगाया। गंभीर रूप से घायल अयोध्या प्रसाद को एक निजी अस्पताल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर गए, जहां से मुरादाबाद रेफर कर दिया। बताया जाता है कि मुरादाबाद ले जाते समय रास्ते में ही किसान की मौत हो गई थी।

छुट्टा जानवरों के हमले

बदायूं जिले में किसान आवारा जानवरों के आतंक से परेशान हैं। नौ दिसंबर को जिले के बिल्सी कस्बे में सांड ने किसान पीतांबर पाल पर हमला कर दिया था, जिससे उनकी मौत हो गई। इससे पहले छह दिसंबर को सलेमपुर गांव में सांड में एक 60 वर्षीय किसान शिवदयाल को हमला कर मार दिया था।

सरकार से किसान संगठन कई छुट्टा जानवरों की समस्या के समाधान की मांग कर चुके हैं लेकिन अभी तक यह समस्या प्रदेश के कई क्षेत्रों में काफी गंभीर है। पिछले दिनों हरियाणा के अंबाला में किसानों ने सड़कों पर घूमते जानवरों को ट्रॉलियों में भरकर स्थानीय विधायक के घर के सामने प्रदर्शन किया था।   

संबंधित पोस्ट

समाचार

उत्तर प्रदेश में खेती के लिए नलकूप कनेक्शन लेने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश सरकार इन किसानों को मुफ्त में बिजली...

कृषि

दूध उत्पादन में उत्तर प्रदेश के किसानों ने कमाल कर दिया है। प्रदेश 15 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी के साथ सबसे ज्यादा दूध...

नीति

मजबूती शुगर लॉबी के दबाव के चलते आखिरकार केंद्र सरकार को अपने एक सप्ताह पुराने फैसले से यू-टर्न लेना पड़ा। देश के चीनी उत्पादन...

योजना

कृषि क्षेत्र में स्टार्टअप की भागीदारी बढ़ती जा रही है। और उनका संख्या 2200 से ज्यादा पार हो चुकी है। ज्यादातर स्टार्टअप एग्री-टेक से...