Connect with us

Hi, what are you looking for?

English

News

हरियाणा में किसानों को बड़ी राहत, ठंड के दौरान अब दिन में मिलेगी सिंचाई के लिए बिजली

हरियाणा में कड़ाके की ठंड को देखते हुए किसानों के लिए बिजली आपूर्ति के समय में बदलाव कर दिया गया है। अब दिन के समय किसानों को बिजली की सप्लाई दी जाएगी। इसका फायदा यह होगा की अब किसानों को रात के समय खेतों की सिंचाई के लिए नहीं ठंड का सामना नहीं करना पड़ेगा। नई व्यवस्था के पहले तक किसानों को रात के समय नलकूपों पर सिंचाई के लिए बिजली की सप्लाई की जाती थी। नए टाइमिंग की समीक्षा 31 जनवरी 2023 में की जाएगी।

नया टाइम टेबल क्या है

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सरकार के नए फैसले के मुताबिक, अब बिजली की सप्लाई दो शिफ्टों में होगी। इसके तहत किसानों को सुबह 5 बजे से दोपहर 1 बजे तक तथा सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक सिचाई के लिए बिजली की आपूर्ति की जाएगी। असल में पिछले कुछ दिनों से प्रदेशभर में शीतलहर का प्रकोप जारी है। और किसान लगातार सरकार से मांग कर रहे थे कि पुरानी व्यवस्था की समीक्षा की जाय। किसानों ये आरोप भी लगाया था की सरकार किसानों को प्रताड़ित करने का काम कर रही है। उनका कहना था कि फसलों की सिंचाई के लिए किसानों को रात भर खेत में रहना पड़ता है, जिस वजह से किसान बीमार हो रहे हैं।

22 जिलों के लिए शेड्यूल जारी

इस संबंध में उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम लिमिटेड (यूएचबीवीएनएल) ने प्रदेश के 22 जिलों का नया शेड्यूल भी जारी कर दिया है। शेड्यूल के मुताबिक, जहां सात जिलों के किसानों को सुबह पांच से दोपहर एक बजे तक बिजली दी जाएगी। वहीं, बाकी जिलों में सुबह 10 बजे से लेकर शाम छह बजे तक बिजली की सप्लाई मिलेगी। सभी डिवीजनों को ये निर्देश भी जारी किए गए हैं कि फीडरों पर पूरे आठ घंटे तक निर्बाध बिजली सप्लाई होनी चाहिए।

संबंधित पोस्ट

समाचार

उत्तर प्रदेश में खेती के लिए नलकूप कनेक्शन लेने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश सरकार इन किसानों को मुफ्त में बिजली...

कृषि

दूध उत्पादन में उत्तर प्रदेश के किसानों ने कमाल कर दिया है। प्रदेश 15 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी के साथ सबसे ज्यादा दूध...

नीति

मजबूती शुगर लॉबी के दबाव के चलते आखिरकार केंद्र सरकार को अपने एक सप्ताह पुराने फैसले से यू-टर्न लेना पड़ा। देश के चीनी उत्पादन...

संघर्ष

छुट्टा जानवर किसानों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में 15 दिनों के भीतर आवारा जानवारों के...