Connect with us

Hi, what are you looking for?

English

News

अब आएगा भारत चावल, 25 रुपये प्रति किलोग्राम में बेचने की तैयारी

केंद्र सरकार भारत आटा, भारत दाल के बाद अब ‘भारत चावल’ बाजार में उतारने जा रही है। नाफेड इंडिया ने ट्वीट कर बताया कि बहुत जल्द ‘भारत चावल’ को लांच किया जाएगा। भारत चावल 25 रुपए प्रति किलोग्राम के रेट पर बिकेगा। इसे नाफेड, नेशनल को-ऑपरेटिव कंज्यूमर्स फेडरेशन ऑफ इंडिया और केंद्रीय भंडार जैसे सेंट्रल स्टोर्स के माध्यम से बेचा जा सकता है। बीते काफी समय से चावल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। और सरकार द्वारा चावल की कीमतों को काबू करने की सभी कोशिशें नाकाम होती दिख रही हैं। इसके पहले सरकार भारत आटा और चना दाल रियायती दर पर 27.50 रुपए प्रति किलो और 60 रुपए प्रति किलोग्राम के रेट से बेच रही है।

लगातार बढ़े चावल के रेट

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के प्राइस मॉनिटरिंग डिविजन द्वारा दिसंबर में जारी आंकड़ों के अनुसार एक साल में चावल की कीमतें 15 फीसदी तक बढ़ चुकी है। बीते 20 दिसंबर 2023 को चावल का खुदरा मुल्य 43.51 रुपये प्रति किलो हो गया। जो 21 दिसंबर, 2022 को 37.99 रुपये प्रति किलो था। सरकार द्वारा ओपेन मार्केट में चावल की बिक्री के बावजूद कीमतें इस समय 40 रुपये प्रति किलोग्राम के पार हैं। इसी तरह खरीफ सीजन में चावल उत्पादन में गिरावट का अनुमान है। अनुमान है कि चावल का उत्पादन में पिछले 8 सालों में पहली बार गिरेगा। इस समय 2023-24 के लिए धान की सामान्य किस्म के लिए एमएसपी 2,183 रुपये प्रति क्विंटल है।

सरकार के कदम नाकाफी

घरेलू स्तर पर गैर-बासमती चावल की कीमतें कम करने के लिए चावल इंडस्ट्री एसोसिएशंस को कीमतें कम करने के निर्देश भी सरकार दे चुकी है। इसके अलावा सरकार ने जुलाई 2023 में गैर-बासमती सफेद चावल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था और इसकी घरेलू उपलब्धता में सुधार के लिए उबले चावल पर 20 फीसदी निर्यात शुल्क लगा दिया था। मगर इन तमाम उपायों के बाद भी चावल के दाम कम नहीं हो रहे हैं। ऐसे में चुनावी साल को देखते हुए अब सरकार भारत चावल पर दांव खेलने जा रही है।

संबंधित पोस्ट

समाचार

उत्तर प्रदेश में खेती के लिए नलकूप कनेक्शन लेने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश सरकार इन किसानों को मुफ्त में बिजली...

कृषि

दूध उत्पादन में उत्तर प्रदेश के किसानों ने कमाल कर दिया है। प्रदेश 15 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी के साथ सबसे ज्यादा दूध...

नीति

मजबूती शुगर लॉबी के दबाव के चलते आखिरकार केंद्र सरकार को अपने एक सप्ताह पुराने फैसले से यू-टर्न लेना पड़ा। देश के चीनी उत्पादन...

संघर्ष

छुट्टा जानवर किसानों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में 15 दिनों के भीतर आवारा जानवारों के...