Connect with us

Hi, what are you looking for?

English

कृषि

काशीपुर में 27-28 जनवरी को स्टार्टअप एक्सपो, आईआईएम कर रहा है आयोजन

उत्तराखंड के काशीपुर में कृषि स्टार्टअप एक्सपो का आयोजन होने जा रहा है। एक्सपो का आयोजन भारतीय प्रबंध संस्थान काशीपुर 27-28 जनवरी को करेगा। उत्तिष्ठ-2024 नाम से वार्षिक कृषि मेले और स्टार्टअप एक्सपो के सातवें संस्करण का आयोजन होगा। मेले में 2,000 से अधिक बी-(व्यवसायिक) स्कूल के छात्र , 20 कुलपतियों और उद्यमियों के बीच बातचीत, 10,000 से अधिक अतिथि और 100 से अधिक स्टार्टअप के शामिल होने की संभावना है। फाउंडेशन फॉर इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट (एफआईईडी) और आईआईएम काशीपुर के ई-सेल द्वारा कृषि और किसान कल्याण विभाग के सहयोग से किया जा रहा है।

इन दो दिनों में क्या होगा

आईआईएम-काशीपुर ने एक्सपो के बारे में बताया है कि दो दिन के कार्यक्रम का उद्देश्य कृषि स्टार्टअप और उद्योगजगत से जुड़े लोगों को को एक मंच पर लाना है। पहले दिन उड़ान 7.0 पिचिंग प्रतियोगिता, लाइव स्टार्टअप पिचिंग प्रतियोगिता, एचयूएलटी पुरस्कार, लीडर्स मंत्र जैसे कार्यक्रम होंगे। वहीं दूसरे दिन कॅरिअर परामर्श सत्र, सांस्कृतिक प्रदर्शन, विज्ञान मेले का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में विशेषज्ञ कृषि क्षेत्र में उद्यमिता पर भी चर्चा करेंगे। स्टार्टअप एक्सपो के जरिए कुल 320 करोड़ रुपये की फंडिंग के साथ 140 से अधिक स्टार्टअप को सहयोग करने का लक्ष्य तय किया गया है।

1.50 लाख तक ईनाम जीतने का मौका

कृषि स्टार्टअप एक्सपो में 1.50 लाख रुपये तक के ईनाम दिए जाएंगे। इसके लिए स्टार्टअप उत्तिष्ठ-2024 में फ्री एंट्री ले सकते हैं। इसके फूड और एग्रीटेक स्टार्ट अप, सोशल इम्पैक्ट, फिनटेक- वित्तीय समावेशन और महिलाओं पर केंद्रित स्टार्टअप भाग ले सकेंगे। इसके तहत चुने गए 3 फाइनलिस्ट 27 जनवरी को अपने स्टार्ट अप के बारे में प्रजेंटेशन देंगे।

संबंधित पोस्ट

समाचार

उत्तर प्रदेश में खेती के लिए नलकूप कनेक्शन लेने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है। प्रदेश सरकार इन किसानों को मुफ्त में बिजली...

कृषि

दूध उत्पादन में उत्तर प्रदेश के किसानों ने कमाल कर दिया है। प्रदेश 15 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी के साथ सबसे ज्यादा दूध...

नीति

मजबूती शुगर लॉबी के दबाव के चलते आखिरकार केंद्र सरकार को अपने एक सप्ताह पुराने फैसले से यू-टर्न लेना पड़ा। देश के चीनी उत्पादन...

संघर्ष

छुट्टा जानवर किसानों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में 15 दिनों के भीतर आवारा जानवारों के...